जयपुर स्थापना दिवस आज…296 बरस की हुई गुलाबी नगरी, छू रही विकास के नए आयाम

Jaipur Foundation Day

Jaipur Foundation Day : जयपुर। गुलाबी नगरी के नाम से प्रसिद्ध जयपुर शहर आज को 296 साल का हो गया। जयपुर के पूर्व महाराजा सवाई जय सिंह द्वितीय ने 18 नवंबर, 1727 को जयपुर शहर की नगर नियोजन को ध्यान में रखकर स्थापना की थी। बसाने के लिए प्रसिद्ध वास्तुकार विद्याधर को जिम्मेदारी भी दी गई थी। गुलाबी रंग में रंगे इस शहर को इसी साल यूनेस्को की विश्व धरोहर सूची में शामिल किया गया है। 

स्थापना के समय जयपुर को दो लाख की आबादी के लिए बसाया गया था, लेकिन आज शहर करीब 70 लाख की आबादी के साथ देश के मेट्रो सिटीज में शामिल होने जा रहा है। इतिहासकारों के अनुसार जयपुर को बसाने के दौरान शहर के चारों ओर एक चारदीवारी बनाई गई थी, जिसमें प्रवेश के लिए सात दरवाजे थे। अब भी चारदीवारी में बसा शहर परकोटा और चारदीवारी ही कहलाता है। 

जयपुर के वास्तु के बारे में कहा जाता है कि शहर को सूत से नाप लीजिये, नाप-जोख में एक बाल के बराबर भी फर्क नहीं मिल सकता है। शहर के बिल्कुल मध्य में तीन चौपड़ हैं। इनमें छोटी चौपड़, बड़ चौपड़ और रामगंज चौपड़ शामिल हैं। सरकार ने प्रदेश में 19 नए जिले बनाने की घोषणा की थी, जिसमें जयपुर को दक्षिण और उत्तर में बांटने की बात कही। लोगों ने इसका खुलकर विरोध किया, जिसके फलस्वरूप सरकार को झुकना पड़ा। 

ये सुविधाएं बना रही शहर को महानगर

शहर में कई बड़ी योजनाएं और प्रोजेक्ट भी आए, जिससे शहर की बसावट अपनी सुंदरता के साथ बढ़ती गई। आज जयपुर महानगरों की श्रेणी में खड़ा हो गया है। कई ऐसे बड़े प्रोजेक्ट हैं, जो शहर के साथ प्रदेश के विकास में भी बढोत्तरी कर रहे हैं। मेट्रो से यातायात सुगम हो रहा है। मानसरोवर से चांदपोल तक और वहां से बड़ी चोपड़ तक मेट्रो पहुंच चुकी है। शहर के पूर्वी भाग को जोड़ने के लिए घाट की गुणी में सुरंग बनाई गई। टनल के बनने से आगरा रोड के लिए शहर आने के लिए सुविधा मिली। 

दिल्ली की तर्ज पर बने रिंग रोड

दिल्ली की तर्ज पर बने रिंग रोड शहर से प्रदेश के बाकी शहरों का सीधा जुड़ाव जयपुर से हो गया। शहर को जाम से बचाने के लिए रामनिवास बाग में दो मंजिला भूमिगत पार्किं ग बनाई गई है, जिसमें 1530 चार पहिया वाहन एक साथ खड़े हो सकते हैं। 

वहीं, सामोद और खोले के हनुमानजी में रोप वे के संचालन से लोग पहाडी में स्थित मंदिरों में दर्शन कर रहे हैं। तीसरे रोप वे का गढ़ गणेश मंदिर पर निर्माण कार्य जारी है। इनके अलावा भी शूटिंग रेंज, झालाना पेंथर अभ्यारण, टर्मिनल एयरपोर्ट, बड़ेशिक्षण संस्थान आदि कई सुविधाएं शहर ही नहीं प्रदेश के लोगों को भी राहत दे रही है।

एसएमएस अस्पताल में भी आईपीडी टॉवर का निर्माण

वहीं, प्रदेश के सबसे बड़े एसएमएस अस्पताल में भी आईपीडी टॉवर का भी निर्माण कार्य जारी है। जयपुर स्मार्टसिटी लिमिटेड की ओर से शनिवार को जयपुर के 296 वें स्थापना दिवस पर साइकलिस्थान आयोजित की जाएगी। जयपुर स्मार्टसिटी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राजेन्द्र सिंह शेखावत ने बताया कि इस अवसर पर शहर के लगभग 200 साइकिल सवार नागरिक स्मार्ट सिटी के कार्यालय से प्रातः 6ः30 बजे रवाना होंगे। 

ग्रेटर निगम की ओर से भी जयपुर स्थापना दिवस के अवसर पर मोती डूंगरी और गोविंद देव जी मंदिर में विशेष पूजन किया जाएगा। इसके साथ ही गंगापोल गेट स्थित गणेश मंदिर में भी पूजन होगा। साथ ही स्च्टे सयू र्किल स्थित सवाई जयसिंह की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की जाएगी।

ये खबर भी पढ़ें:-प्रदषूण से सूरज की चमक रही फीकी…सर्दी बढ़ी, रेड जोन में जयपुर, AQI लेवल पहुंचा 335